हताश विपक्षी दल


     2019 में लोकसभा के आम चुनाव संपन्न हुए,तब सभी विपक्षी दल अपनी संभावित हार को छुपाने के लिए चुनाव आयोग के पास चले गए और चुनावों में निष्पक्षता पर संदेह व्यक्त किया, वोटिंग मशीन पर अविश्वास व्यक्त किया और गड़बड़ी की आशंका व्यक्त की, परन्तु चुनाव आयोग ने कराये गए निष्पक्ष चुनाव के लिए सभी दलों को अपना स्पष्टीकरण दिया  तथा सभी पार्टियों को चुनौती दी की कोई बताये मशीन में घोटाला कैसे संभव है. तद्पश्चात सभी विपक्षी पार्टियाँ नतीजों की प्रतीक्षा करने लगे, शायद उन्हें केंद्र में अपनी सत्ता पर काबिज  होने का अवसर मिल पाए और आपसी जोड़ तोड़ में लग गए, कौन किसे समर्थन देगा? उन्हें ये तो निश्चित तौर पर सम्भावना थी, की किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत मिलने वाला नहीं है. परन्तु देश की जनता का आदेश मोदी जी के भारी समर्थन में आया भा.ज.पा. को तीन सौ से अधिक सीटें दे कर जनता ने मोदी जी में पूर्ण विश्वास व्यक्त किया और सभी अन्य दलों के इरादे ध्वस्त हो गए.

     मोदी सरकार के सत्ता में आते ही तेजी से अपने उद्देश्यों को पूर्ण करने के लिए तीव्रता से निर्णय लेने प्रारंभ किये. फलस्वरूप निलंबित तीन तलाक सम्बंधित विधेयक को लोक सभा और राज्यसभा में पास कराकर कानून बना दिया, जो देश की मुस्लिम महिलाओं के हित में अभूतपूर्व कानून बना.उनका अपना जीवन पहली बार सुरक्षित हुआ.

     तत्पश्चात जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटा कर उसका दो केंद्र शासित राज्यों के रूप में पुनर्गठन कर दिया. जिस पर विरोधी पक्ष ने काफी शोर शराबा किया परन्तु सफलता नहीं मिली,सभी स्थानीय नेताओं को नजर बंद कर दिया गया ताकि कोई जनता को भड़का कर माहौल ख़राब न कर पाए. इस प्रकार कश्मीरी जनता को शांत और सुरक्षित जीवन जीने और क्षेत्र को  तीव्र विकास की ओर ले जाने  का अवसर मिला.

     इस घटना के पश्चात् देश की सर्वोच्च अदालत का मंदिर सम्बंधित आदेश आया. जिसकी  डेढ़ महीने से  निरंतर सुनवाई चल रही थी और मंदिर बनने का मार्ग प्रशस्त हो गया और कोई भी दल या वादी पक्ष कुछ नहीं कर पाया. सभी विरोधी दल हाथ मलते रह गए उन्हें अपना जनाधार निरंतर घटता आने लगा. परन्तु उन्हें कुछ समझ नहीं आ रहा था वे कैसे अपने अस्तित्व को बचाए रख सकते हैं.

     शीघ्र ही मोदी सरकार नागरिक संशोधन कानून ले कर आ गयी .अब विपक्षी दलों की हालात करो या मरो जैसी हो गयी.और उन्होंने जनता को भ्रमित करना प्रारंभ कर दिया और जनता को मोदी सरकार के विरुद्ध खड़ा कर दिया और पूरे देश में हिंसक माहौल बन गया देश में अराजकता की स्थिति बनने लगी. सभी विपक्षी दलों को लगने लगा की हम सीधे सीधे मोदी जी से जीत नहीं पाएंगे अतः विस्फोटक स्थिति पैदा कर जनता को अपने पक्ष में करने का प्रयास करने लगे.आज विरोधी पक्ष यह नहीं समझ पा रहा है वे जिस डाल पर बैठे हैं उसी को काटने लग रहे हैं.की राजनैतिक उद्देश्य अपने समाज और राष्ट्र से भी बड़े हो गए हैं.क्या अराजक माहौल में वे अपने भावी जीवन को सुरक्षित रख पाएंगे.जि देश में उन्हें रहना है अपना समस्त जीवन व्यतीत करना है उसे गर्त में ले जाकर कौन सी समझदारी का परिचय दिया जा रहा है.सभी व्यक्तियों और दलों को अपना विरोध प्रकट करने का पूर्ण अधिकार मिला हुआ है परन्तु हिंसा के सहारे देश का और समाज का कभी भी भला नहीं हो सकता.यदि वे अराजकता के साथ सत्ता में आ जाते हैं तो भी उनके लिए मुश्किलें कम नहीं होने वाली,और देश का विकास तो निश्चित रूप से प्रभावित होगा.

    ​अतः सभी दलों को समझना होगा की​ हताश होकर नकारात्मक ​राजनीति​ करने से कुछ नहीं होने वाला इससे न तो आपका भला होगा और न ही देश का जिसकी (तथाकथित)सेवा के लिए  आप राजनीति में आए है.सिर्फ ​सकारात्मक ​ राजनीति से ही सबका भला हो सकता है.​अपने विचार रखने के लिए सब स्वतन्त्र है परन्तु हिंसा का मार्ग किसी के हित में नहीं है. अब जनता भी समझती है, कौन दल क्या पैंतरा खेल रहा है उसे अब भ्रमित नहीं किया जा सकता. अतः नकारत्मक राजनीति करने वाले नेता या पार्टी को जनता निश्चित रूप से नकार देगी.(SA-253B)

================================================================________________________________________________________________________

सावधान ! पे टी एम आपका बैंक खाता खाली न कर दे.

      पे टी एम यूजर सावधान हो जाईये,इसका प्रयोग आपका बैंक खाता खाली कर सकता है.गत कुछ महीनों से इसका स्टाफ अनेक यूजर को अपना शिकार बना चूका है. के वाई सी अपडेट कराने के नाम पर पहले दिन एक मेसेज आता है इस नंबर पर कॉल कर अपने के वाई सी अपडेट करा लें अन्यथा आपका खाता बंद हो जायेगा. अगले दिन इसका स्टाफ चिकनी चुपड़ी बातें करते हुए अपने शिकार को फंसा कर उसके बैंक खाते को हैक कर लेता है और जब तक आप समझ पाते हैं यह आपके खाते से सारी रकम साफ़ कर देता है. उसके बाद न आपका बैंक आपकी कोई मदद करता है और न साइबर सेल.

      निरंतर हो रही इन वारदातों के बाद भी हमारा सिस्टम जागने को तैयार नहीं है.और न ही आम आदमी के खाते की सुरक्षा के उपाय कर पाता है. बल्कि फ्रॉड के शिकार को ही लापरवाह और जिम्मेदार ठहरा कर अपनी जिम्मेदारी निभा लेते हैं. पे टी एम के शिकायत बॉक्स पर अपनी फरियाद डालने पर कोई जबाव नहीं दिया जाता. लगता है इस कम्पनी का कोई  कंट्रोलर है ही नहीं, अथवा वह गहरी नींद में सोया हुआ है.जब तक वह जागेगा तब तक उसका स्टाफ(हैकर) इस कंपनी की साख को मिटटी में मिला चुका होगा. 

       इन सब घटनाओं के बाद यही निष्कर्ष निकलता है की पे टी एम यूजर इसका प्रयोग ही बंद कर दें.और अन्य किसी साईट का  प्रयोग करें, वह भी बहुत सोच समझ कर जागरूकता के साथ. बैंक हो या कोई कम्पनी का स्टाफ कितना भी आवश्यक क्यों न हो कभी भी उनके कहने से किसी एप्प को डाउन लोड न करें. इन संशय पूर्ण एप्प से ही आपकी गतिविधियों  पर नजर रखने में कामयाब हो जाते हैं और अपने  शिकार को फंसा लेते हैं.आपकी गाढ़ी कमाई को मिनटों में चट कर जाते हैं. बाद में सिर्फ अफ़सोस ही रह जाता है.

       हैकर के तरीके भी रोज नए होते हैं,जिसमे कोई अनजाने में फंस जाता है.किसी भी किस्म का लालच देकर अपने शिकार को फंसाते हैं, जैसे आपकी लोटरी निकली है,कंपनी ने आपका फ्री टूर ऑफर किया है,आपका कोई इनाम निकला है उसके लिए आपके खाते की जानकारी चाहिए,किसी स्कीम में आप चुने गए हैं, किसी  कानूनी कार्य के लिए इन दस्तावेजो की आवश्यकता है इत्यादि.  किसी लालच में न पड़ कर अपने को सुरक्षित रखें,धोके के शिकार होने से बचें.

================================================================

    

 


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.