क्या है इंसानियत का धर्म

               {सभी धर्मों का सार है ‘इंसानियत’। दूसरे अर्थों में सभी धर्मों का मूल उद्देश्य है मानव को अपने समाज में, दुनिया में कष्टहीन एवं शांतिपूर्ण जीवन जीने का वातावरण प्रदान करना। सभी धर्मों का उद्भव मानव कल्याण के लिए हुआ है। किसी भी धर्म का पालन करने का तात्पर्य है अपने व्यवहार … More क्या है इंसानियत का धर्म

अवनी की उड़ान बेमिसाल

        मध्यप्रदेश की रहने वाली अवनी चतुर्वेदी ने भारतीय वायुसेना में लड़ाकू विमान पायलट के रूप में मिग-21 फाइटर जेट से खुले आसमान में अकेले ही उड़ान भरकर ‘पहली स्वतंत्र फाइटर पायलट’ होने का गौरव प्राप्त किया। यह भारतीय वायुसेना और पूरे देश के लिए एक विशेष उपलब्धि है। क्योंकि दुनिया के चुनिंदा देशों जैसे … More अवनी की उड़ान बेमिसाल

पपीते के पत्तों द्वारा केंसर रोग का शमन (जनहित में जारी)

   पपीते के पत्तो की चाय किसी भी स्टेज के कैंसर को सिर्फ 60 से 90 दिनों में कर देगी जड़ से खत्म.पपीते के पत्ते 3rd और 4th स्टेज के कैंसर को सिर्फ 35 से 90 दिन में सही कर सकते हैं। अभी तक हम लोगों ने सिर्फ पपीते के पत्तों को बहुत ही सीमित … More पपीते के पत्तों द्वारा केंसर रोग का शमन (जनहित में जारी)

अव्यवस्थित सरकारी कार्य प्रणाली

    अंजलि रूहेला द्वारा प्रेषित        हमारे देश में भले ही आज कितनी ही योजनाएँ चल रही हैं और सरकारी कामकाज कितना ही कम्प्यूटरीकृत हो गया हो लेकिन सच यही है कि देश पिछड़ रहा है,और इस पिछड़ेपन के लिए कोई एक व्यक्ति जिम्मेदार नहीं है पूरा सिस्टम ही खराब है,सारी व्यवस्था … More अव्यवस्थित सरकारी कार्य प्रणाली

व्यापार है या आजीवन कारावास !!!

   “व्यक्तिगत रूप से दुकान पर नियमित तौर पर बिना विराम के समय देने वाले दुकानदारो के लिए एक बात यह भी सोचने की है वह कौन सा समय होगा जब आप स्वयं भी दुनिया के समस्त मनोरंजन के भागीदार बन सकेंगे, हो सकता है आपका लक्ष्य कुछ लाख कमा लेने तक सीमित हो या … More व्यापार है या आजीवन कारावास !!!